Tuesday, May 28, 2024

A Message with My Words

More articles

A Message

Respected Sir,

बस इतना ही कहूंगा……

किसी की नजर में अच्छे थे,

किसी की नजर में बुरे थे ।

हकीकत में जो जैसा था,

हम उसकी नजर में वैसे थे।।

Sanjay Kumar Nimiwal

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Latest