Tuesday, March 5, 2024

Meaning of Relationship / रिश्ते का भावार्थ

More articles

Meaning of Relationship / रिश्ते का भावार्थ

“” रिश्ता एक प्यार व सुरक्षा की छत्रछाया या सपनों की सीढ़ियाँ या फिर भावनात्मक बेड़ियाँ “”

“” अंतर्मन से प्यार व समर्पण को परिलक्षित करने का अहसास ही रिश्ता है। “”

“” एक ही गर्भ या शुक्राणुओं से जुड़े रक्त बन्धन भी रिश्तों का निर्माण करते हैं। “”

“” एक ही कटुम्ब या ध्येय या जीवन शैली के बीच अनन्य लगाव व त्याग को दर्शाता मनोभाव ही रिश्ता कहलाता है। “”

“” एक दूसरे के हितों रक्षा, सम्मान या विरह की वेदना के भाव भी जहां मौजूद हो तो वह रिश्ता है। “”

रिश्तों की बलि पहले भी चढ़ती आयी है परन्तु वर्तमान में स्थिति मतलबपरस्त तो कहीं भयावह ही बनी हुई है।

★ आजकल व्यापार को साधने में बनावटी रिश्तों का बोलबाला रहता है।

★★ रिश्तों की चासनी में आजकल के बच्चे माता पिता का अपने हितों को साधने में सीढ़ी की तरह इस्तेमाल करते हैं।

★★★ रिश्तों के नाम सबसे ज्यादा शारिरीक व मानसिक शोषण का शिकार आजकल पत्नी / प्रेमिका नाम का रिश्ता रहता है|

मानस जिले सिंह
【 यथार्थवादी विचारक】
अनुयायी – मानस पँथ
उद्देश्य – सामाजिक समस्याओं को व्यवहारिकता के साथ रखने में अपनी भूमिका का निर्वहन करना।

3 COMMENTS

Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Manas Shailja
Member
1 year ago

so real

Sanjay Nimiwal
Sanjay
1 year ago

सुन्दर रिश्ते 🙏👌🙏

ऐसा नहीं है कि मैं नासमझ हूँ,

बस रिश्ते निभाने के लिए…

चुप रहने का हुनर जानता हूँ।।।

Mahesh Soni
Mahesh Soni
1 year ago

रिश्तों में यदि दरार पड़ जाए,
तो उसे जल्दी ठीक कर लेना चाहिए।
वरना अक्सर ऐसी दरारों से रिश्तों की नींव हिलते में देर नही लगती है।

Latest