Sunday, April 21, 2024

Definition of Contemplation | चिंतन की परिभाषा

More articles

चिंतन की परिभाषा | चिंतन का अर्थ
Definition of Contemplation | Meaning of Consideration | Chintan Ki Paribhasha

“” चिंतन “”

“” विचारों का तर्कसंगत , न्यायोचित व विवेकपूर्ण गहनता से विश्लेषण ही चिंतन कहलाता है । “”

सरल शब्दों में –
“” समग्रता के पथ पर कार्यफल का निष्पक्षता से पूर्वानुमान कर मंथन एवं मनन करने के लिए संकल्पबद्ध निश्चय ही चिंतन कहलाता है । “”

वैसे “” चि ” से चित्त द्वारा जहां आंकलन होता हो ,
वहां स्वतंत्र व प्रेमपूर्वक संकलन व विवेचन सर्वोपरि रहता है ;
“‘” न् “” से न्याय पथ पर जहां मंथन होता हो ,
वहां सर्वपक्षीय अध्ययन व परीक्षण की सर्वोच्चता बनी रहती है ;

“” त “” से तर्कशीलता जहां विचार विमर्श की प्राथमिकी में होता हो ,
वहां निष्पक्ष सोच एवं सत्य के मार्ग पर निर्णय का प्रशस्तिकरण होता है ;
“” न “” से निर्लिप्तता की जहां प्रधानता बनी रहती हो ,
वहां स्वावलंबन के साथ कार्य की गुणवत्ता भी बनी रहती है ;

“” विचारों में जहां चित्त न्याय व तर्कशीलता के साथ निर्लिप्तता की भी प्रधानता स्वीकार करे तो वह चिंतन है।

“” चिंतन को जीवनशैली का हिस्सा बनाकर चिंता से दूरी बनाना ही सर्वश्रेष्ठ मानवीय गुण है । “”

These valuable are views on Definition of Contemplation | Meaning of Consideration | Chintan Ki Paribhasha
चिंतन की परिभाषा | चिंतन का अर्थ

मानस जिले सिंह
【यथार्थवादी विचारक 】
अनुयायी – मानस पंथ
उद्देश्य – मानवीय मूल्यों की स्थापना हेतु प्रकृति के नियमों का यथार्थ प्रस्तुतीकरण में संकल्पबद्ध योगदान देना।

1 COMMENT

Subscribe
Notify of
guest
1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Sanjay Nimiwal
Sanjay
1 year ago

तर्क संगत विचार

चिंतन द्वारा ही हल संभव है।

Latest