Tuesday, April 16, 2024

Definition of Leader of the People | जननायक की परिभाषा

More articles

जननायक की परिभाषा | जननायक का अर्थ
Definition of Leader of the People | Meaning of Leader of the People | Jannayak Ki Paribhasha

“” जननायक “”

“” विखण्डित जनसमूह या क्षेत्र विशेष की आवाज को एक सूत्र एवं एकसुर में संकलित करने की प्रतिबद्धता ही जननायक का निर्माण करती है। “”

“” किसी जनसमूह के मानवीय अधिकारों के वास्ते स्वयं के वजूद को भी ताक पर रखकर निर्भयता से आवाज का शंखनाद करे वही तो जननायक कहलाता है। “”

सामान्य परिप्रेक्ष्य में –

वैसे “” ज “” जागृति हेतु जनून
“” न “” नवसृजनात्मक शक्ति की धारिता
“” न “” से नेतृत्व क्षमता
“” य “” से यथार्थ स्वरूप का ज्ञान
“” क “” से कर्मयोग का जज्बा

“” जागृति हेतु जनून व नवसृजनात्मक शक्ति की धारिता के साथ नेतृत्व क्षमता, यथार्थ स्वरूप का ज्ञान व कर्मयोग का जज्बा ही उसे जननायक बनाता है। “”

वैसे “” ज “” से जुझारू
“” न “” निशक्तजन हितैषी
“” न “” से नीति निर्धारक
“” य “” से योगदाता
“” क “” से कर्त्तव्यपरायण

“” जो जुझारू व निशक्तजन हितैषी के साथ नीति निर्धारक योग्य और कर्त्तव्यपरायण भी हो तो वह जननायक कहलाता है। ‘”

मानस के अंदाज में —

“” अकेले ही जब सर्वहित लिये शासन विरुद्ध आवाज बुलंद कर निर्णय लेने को मजबूर कर दे वही जननायक कहलाता है। “”

“” अपने कार्यों से समाज की दिशा व दशा बदलने का जो मादा रखे वही जननायक कहलाता है। “”

“” अपने वजूद से ज्यादा समुदाय के हित की परवाह में निरंकुश शक्ति से लोहा लेना उसे जननायक बनाता है। “”

“‘ जननायक सिर्फ पदवी ही नहीं यह एक लम्बी जीवन शैली जीने के उपरांत मिलने वाला श्रृंगार है जो जीते जी जनसाधारण के समर्पित रहता है और मरणोपरांत एक विचार हो जाता है। “”

These valuable are views on Definition of Leader of the People | Meaning of Leader of the People | Jannayak Ki Paribhasha.
जननायक की परिभाषा | जननायक का अर्थ

मानस जिले सिंह
【यथार्थवादी विचारक 】
अनुयायी – मानस पंथ
उद्देश्य – मानवीय मूल्यों की स्थापना हेतु प्रकृति के नियमों का यथार्थ प्रस्तुतीकरण में संकल्पबद्ध योगदान देना।

4 COMMENTS

Subscribe
Notify of
guest
4 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Radha Krishan
Member
1 year ago

जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं, बंधु।परमात्मा से प्रार्थना करता हूँ कि आपकी सृजनात्मकता से समाज लाभान्वित होता रहेगा।आपकी दीर्घायु की दिल से असीम कामनायें।

Sanjay Nimiwal
Sanjay
1 year ago

बहुत सुन्दर व्याख्या 👌🙏👌

आज के युग में वास्तविक जननायक वह है जो अपने घर-परिवार की अपने रिश्तेदारों व समाज में पहचान बनाए रखें।

Amar Pal Singh Brar
Amar Pal Singh Brar
1 year ago

स्टीक एवं सारगर्भित व्याख्या
जननायकों का आत्म- उत्सर्ग समाज को एक नई दिशा प्रदान करता है।

Mahesh Soni
Mahesh Soni
1 year ago

समाज बदलने चले है हम!
हम बदलेंगे नही, पहले बदलो तुम!
क्या इसी सोच के साथ बदलोगे समाज?

Latest