Tuesday, May 28, 2024

Meaning of Moksha Path | मोक्ष पथ का अर्थ

More articles

मोक्ष पथ की परिभाषा | मोक्ष पथ का अर्थ
Meaning of Moksha Path | Definition of Moksha Path | Moksha Path Ka Arth

| Moksha |

“” एक असीम कृपा युक्त क्षण जहां आत्मा का परमात्मा में विलीन होना निश्चित हो तो वह मोक्ष कहलाता है। “”

M – Morality 【 नैतिकता 】
O – Obsession 【 जनून 】
K – Knowledge [ ज्ञान 】
S – Sacrifice 【 त्याग 】
H – Humanity 【 मानवता 】
A – Act with Honesty 【 कर्म के प्रति ईमानदारी 】

“” नैतिकता के प्रति जनून , ज्ञान व त्याग के प्रति समर्पण के साथ मानवता को केंद्रित में रखते हुए कर्म के प्रति ईमानदारी ही मोक्ष है। “”

“” निश्छल कर्त्तव्यों , प्रेम व सत्यनिष्ठा के प्रति समर्पित जीवन जीने का भान ही मोक्ष है। “

| Path |

“” वैसे गंतव्य स्थान तक पहुंचने की कवायद भी पथ ही तो है। “”

“” असमंजस को धत्ता जताते हुए निर्धारित लक्ष्य तक पहुंच भी तो पथ ही है। “”

P – Priority Based 【 प्राथमिकता आधारित 】
A – Accountable for Attributes 【 गुणों के प्रति जवाबदेह 】
T – Target Oriented 【 लक्ष्योन्मुख 】
H – Helpful with Criticisms 【 आलोचना में भी मददगार 】

“” वैसे प्राथमिकता आधारित गुणों के प्रति जवाबदेह होकर लक्ष्योन्मुख व आलोचना में भी मददगार साबित हो तो वह पथ कहलाता है। “”

“” नये की शुरुआत हेतु सच्ची व वास्तविक सलाह पथ ही तो है। ””

“” नैतिकता के प्रति जनून , ज्ञान व त्याग के प्रति समर्पण के साथ मानवता को केंद्रित में रखते हुए कर्म के प्रति ईमानदारी का प्राथमिकता आधारित गुणों के प्रति जवाबदेह होकर लक्ष्योन्मुख व आलोचना में भी मददगार साबित होना ही उसे मोक्ष पथ कहलवाता है। “”

“” मोक्ष पथ जीवन की यात्रा को सम्पूर्ण मनोयोगपूर्वक कार्य व मानवीय मूल्यों के साथ जीने की सरल, सहज और स्पष्ट अवधारणा है। “”

These valuable are views on Meaning of Moksha Path | Definition of Moksha Path | Moksha Path Ka Arth
मोक्ष पथ की परिभाषा | मोक्ष पथ का अर्थ

मानस जिले सिंह
【यथार्थवादी विचारक 】
अनुयायी – मानस पंथ
उद्देश्य – मानवीय मूल्यों की स्थापना हेतु प्रकृति के नियमों का यथार्थ प्रस्तुतीकरण में संकल्पबद्ध योगदान देना।

2 COMMENTS

Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Sanjay Nimiwal
Sanjay
1 year ago

सटीक व्याख्या 🙏👌🙏

हर कहीं माथा टेकने से नहीं,,,
केवल सेवा से ही मिलता है मोक्ष ।।

ONKAR MAL Pareek
Member
1 year ago

सांस खत्म हो और तमन्ना रह जाए……. वह मृत्यु है……….. सांस बाकी रहे और तमन्ना खत्म हो जाए वह है मोक्ष

Latest