Tuesday, March 5, 2024

Meaning of Murder | हत्या बस एक क्रूरता है

More articles

हत्या की परिभाषा | हत्या बस एक क्रूरता है
Meaning of Murder | Murder is Just Cruelty | Htya Ki Paribhasha

हत्या ही नहीं क्रूर मानसिकता का दौर अब जो सुनाई पड़ता है ,
हर कोई दूसरों को ही पीड़ा में देखने हेतू व्यस्त व लालायित दिखाई जान पड़ता है ;

आदमी आदमी की खुशियों में अब शामिल नहीं होता है जनाब ,
कभी दाह संस्कार में तो कभी खुद ही दूसरों की कब्र खोदता दिखाई पड़ता देता है ;

हत्या में “”ह”” से हिंसात्मक जश्न जहां होता है ,
हथियार से हठधर्मिता की पूर्ति में वहां सिर्फ नंगा नाच ही हुआ है ;

“”त”” से तामील हुई हुक्म की जब ऑंख बन्द करके जहां ,
तानाशाही तत्परता से विध्वंस करा वहां सिर्फ त्राहि त्राहि ही मचाती है ;

“”य”” से योजनाबद्ध तरीके से जहां काम होता है ,
कर्म चाहे जो हो पर वहां हर कोई सफलता पाने के बस करीब होता है ;

वैसे हिंसात्मक हुक्म की तामील जहां योजनाबद्ध तरीके से होती है ,
वहाँ सदैव इंसानियत की बलि तो कहीं जघन्य अपराध में जीव हत्या होती है ;

मानवता एक बार फिर शर्मसार जो होती हैं ,
भोजन के बदले ज़हर देने की शुमारी वहां जब भी दर्ज होती है ;

इसे सनक कहें या वैहशी दरिंदगी कहें या क्रूरता भरी हैवानियत जो ,
हथियार से ही नहीं  “” मासूमियत इंसानियत पर बेजुबान धोखे से वार “” जहां होती है ;

These valuable are views on Meaning of Murder | Murder is Just Cruelty | Htya Ki Paribhasha
हत्या की परिभाषा | हत्या बस एक क्रूरता है

मानस जिले सिंह
【यथार्थवादी विचारक 】
अनुयायी – मानस पंथ
उद्देश्य – मानवीय मूल्यों की स्थापना हेतु प्रकृति के नियमों का यथार्थ प्रस्तुतीकरण में संकल्पबद्ध योगदान देना।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Latest