Tuesday, May 28, 2024

Meaning of Prachalit Dharma | प्रचलित धर्म का अर्थ

More articles

प्रचलित धर्म की परिभाषा | प्रचलित धर्म का अर्थ
Meaning of Prachalit Dharma | Meaning of Dharma | Prachalit Dharma Ka Arth
Prachalit Dharma /
“” प्रचलित धर्म एक मानवीय जरूरत “”
या
“” एक मानसिक कमजोरी का विकृत हथियार “”
या फिर
“” एकरूप विचारधारा के साथ संगठित समाज बनाना का सिर्फ एक तरीका “”
★★★ “” प्रचलित धर्म वास्तविकता में एक पँथ ही हैं क्योंकि ये सब आध्यात्मिक मार्ग प्रशस्त करते हुए ईश्वर, जन्नत या मोक्ष प्राप्ति की अवधारणा पर बल देते हैं। “” ★★★
“” अपने वजूद पर भरोसा ना करके जब अन्य अदृश्य शक्ति के नियंत्रण, मिलन व उपकार की भावना जब प्रबल होने लगे तो आप पँथ के गिरफ्त में है। “”
★★★ “” प्रचलित धर्म की शुरुआत एक मत विचारधारा के लोगों को संगठित, नियंत्रित व संचालित की अवधारणा को मूल यानि केंद्र में रख कर ही हुई। “” ★★★
“” प्रचलित धर्म / पँथ विचारों को ही नहीं मानवीय अस्तित्व / वजूद को भी अदृश्य कैद में बंदी बनाकर स्वतंत्रता व स्वच्छंदता का अहसास दिलाता है। “”
These valuable are views on Meaning of Prachalit Dharma | Meaning of Dharma | Prachalit Dharma Ka Arth
प्रचलित धर्म की परिभाषा | प्रचलित धर्म का अर्थ
मानस जिले सिंह
【 यथार्थवादी विचारक】
अनुयायी – मानस पँथ
उद्देश्य – सामाजिक व्यवहारिकता को सरल , स्पष्ट व पारदर्शिता के साथ रखने में अपनी भूमिका निर्वहन करना।

1 COMMENT

Subscribe
Notify of
guest
1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Manas Shailja
Member
2 years ago

so nice

Latest