Thursday, July 25, 2024

Meaning of The Weapon | बुद्धिजीवी की कट्टर मानसिकता या फिर ज़ाहिल का हथियार

More articles

ज़ाहिल का हथियार | हथियार का अर्थ
Meaning of The Weapon | Definition of The Weapon | Hathiyar Ki Paribhasha

| Responsible for The Current Situation |
| The Fanatic mentality of the Intellectual or The Weapon of The Foolish |

| वर्तमान स्थितियों के लिए जिम्मेदार |
| बुद्धिजीवी की कट्टर मानसिकता या फिर ज़ाहिल का हथियार |

बोझिल आँखों ने एक दूर जो रोशनी दिखलाई ,
फिर जीने की एक बार हमें “” उम्मीद की किरण “” नजर आईं ;

खोये विश्वास पर अब फिर कैसी है नोबत आई ,
जान बचाने में भी हमने अब जान की ही जोखिम है उठाई ;

किस्मत ने आज फिर हमसे एक अजीब सी दौड़ है लगवाई ,
एक राह में सपनों के साथ थी जिंदगी की कड़वी भरी सच्चाई ;

तो दूजी तरफ अपनों की आस भी आड़े थी आई ,
इस पर हौशले ने हिम्मत भी खड़े होकर ही दिखलाई ;

इम्तिहान की घड़ी भी क्या खूब ही हमने है पाई ,
बढ़ते दर्द ने भी हमारे धैर्य को और भी ढांढस है जो बंधाई ;

किसी ने बड़ी खूब ही रस्म अदायगी हमसे जो अब है करवाई ,
अरमानों की कब्र पर ही “” उम्मीद “” की नींव हमसे फिर से जो है रखवाई ;

माथा चकरा देख ये सब गश एक बार फिर जो हमने है खाई ,
खून से सने हाथों को फिर से कट्टरपंथी मौन समर्थन ने ही अपनत्व है जो दिखलाई ;

दहशतगर्दों के साथ मौकापरस्त धर्म के ठेकेदारों व राजनीतिज्ञों ने फिर से इन्शानियत कलंकित है करवाई ,
ऊपर से न्याय के देवता ने न्याय की निर्मम हत्या कर अपनी ही पीठ है जो थपथपाई ;

हर बार की तरह विकृत, घृणित व कट्टरपंथी मानसिकता में ही दोष हमको नज़र जो है आई ,
पर दिल रोया फिर ये जान कि – “” नैतिकता, मौलिकता व मानवीयता की हत्या करने में ” MY LORD ” निरकुंश बुद्धिजीवी वर्ग ने ज्यादा अपनी भूमिका निभाई । “”

“” प्रेम में ही ईश्वर है,
यह संदेश सिर्फ हमें हर्फ़ों और अल्फाजों में नहीं ;
असल जिंदगी में चरितार्थ करना चाहिए,
नबी की शान मोहब्बत का सज़दा करने में है न कि घृणा “””

These valuable are views on Meaning of The Weapon | Definition of The Weapon | Hathiyar Ki Paribhasha
ज़ाहिल का हथियार | हथियार का अर्थ

मानस जिले सिंह
【यथार्थवादी विचारक 】
अनुयायी – मानस पंथ
उद्देश्य – मानवीय मूल्यों की स्थापना हेतु प्रकृति के नियमों का यथार्थ प्रस्तुतीकरण में संकल्पबद्ध योगदान देना।

1 COMMENT

Subscribe
Notify of
guest
1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Amar Pal Singh Brar
Amar Pal Singh Brar
2 years ago

आज की परिस्थितियों के संदर्भ में बेहद सही संदेश

Latest