Saturday, June 15, 2024

Definition of Independence | स्वतंत्रता की परिभाषा

More articles

स्वतंत्रता की परिभाषा | स्वतंत्रता क्या है
Definition of Independence | Meaning of Liberty | Swatantrata Ki Paribhasha

“” स्वतंत्रता “”
स्वतंत्र शब्दों में –
“” अपने वजूद पर स्वंय का नियंत्रण अथवा अधिपत्य होना ही स्वतंत्र कहलाता है। “”

दूसरे शब्दों में –
“” स्वंय के अस्तित्व को सरंचित एवं सरंक्षित करने का आत्मबोध ही स्वतंत्र है। “”

स्वतंत्रता शब्दों में :-
“” अपने वजूद पर स्वंय के नियंत्रण अथवा अधिपत्यता के अधिकारों की प्राप्ति का अनुमोदन होना ही स्वतंत्रता कहलाती है। “”

दूसरे शब्दों में :-
“” स्वंय के विचारों को निर्विघ्नंता व सहजता से रखने की अभिव्यक्ति का सरंक्षित होना ही स्वतंत्रता कहलाती है। “”

मेरा छोटा सा सवाल –
1. यदि स्वतंत्रता का मतलब अधीनता से मुक्ति मान लिया जाये तो क्या छोटे निजी हितों की प्राप्ति हेतु राष्ट्रहित व इसके अस्तित्व को संकट में डाला जा सकता है ?

2. स्वतंत्रता करोड़ों देशभक्तों के अथक प्रयासों , संघर्षों एवं बलिदानों का उपहार मान लिया जाये तो क्या चंद लोगों की स्वछंदता, हठधर्मिता और राजहठ की पूर्ति हेतु राष्ट्रीय संस्कृति को छिन्न भिन्न/ तार तार किया जा सकता है ?

मानस पंथ के अनुसार –

आज़ादी शारिरीक बेड़ियों से छुटकारे का नाम नहीं अपितु
“” विचारों को निर्भीकता एवं सहजता से तर्कसंगत व युक्तिबध्द प्रस्तुति या संवाद रखने का संवैधानिक अधिकार ही स्वतंत्रता कहलाती है। “”

मानस पंथ क्षेत्र, जाति, सम्प्रदाय, धर्म , ऊँचनीच व लिंगात्मक भेद का खंडन करता है।

यानि सम्पूर्ण पृथ्वी के जगत के सभी प्राणितव को अपना परिवार मानता है। वह किसी प्रकार उनमें विभेद नहीं करता है।
परन्तु जिस देश व राज्य सीमा या समाज में रहता है उनके संवैधानिक नियमों में अपनी आस्था व सम्मान बनाये रखना अपना कर्त्तव्य भी समझता है।

आमजन के लिये निज विचारधारा को रखने की स्वतंत्रता किसी
“” राजतंत्र में सिर्फ गुलाम नहीं,
प्रजातंत्र प्रणाली में सिर्फ आज़ाद नहीं। “”

“” स्वतंत्रता दिवस की ढेर शुभकामनाएं देने से नहीं किसी अन्य को आजादी का जीवन देने से ही सार्थक सिद्ध होंगी। “”

These valuable are views on Definition of Independence | Meaning of Liberty | Swatantrata Ki Paribhasha
स्वतंत्रता की परिभाषा | स्वतंत्रता क्या है

मानस जिले सिंह
【यथार्थवादी विचारक】
अनुयायी – मानस पंथ
उद्देश्य – मानस पंथ अपने नियम शिक्षा, समानता व स्वावलंबन की पूर्णता के लिये ही संघर्षरत व समर्पित है।

1 COMMENT

Subscribe
Notify of
guest
1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Sanjay Nimiwal
Sanjay
1 year ago

🙏👌🙏

स्वतंत्र कौन है इस जहां में,
क्योंकि सभी तो अंतर्मन के द्वन्दो से घिरे हुए हैं।

Latest