Tuesday, May 28, 2024

Definition of Preservation | सरंक्षण की परिभाषा

More articles

सरंक्षण की परिभाषा | सरंक्षण का अर्थ
Definition of Preservation | Meaning of Safeguard | Sanrakshan Ki Paribhasha

“” सरंक्षण “”

“” किसी व्यक्ति या वर्ग को समूह में से कुछ हद तक सरंक्षित करना ही सरंक्षण है। “”

“” किसी का अस्तित्व बचाने हेतु भीड़ के विरुद्ध उठाया रक्षात्मक कदम ही सरंक्षण कहलाता है। “”

“” किसी के जीवन को निखारने या स्वावलंबन हेतु प्रयासरत कदम भी तो सरंक्षण कहलाता है। “”

वैसे “” स “” से सानिध्य
“” न् “” से नम्रतापूर्वक
“” र “” से रहनुमाई
“” क्ष “” से क्षत्रियत्व
“” ण “” से निर्वहन

“” सानिध्य में नम्रतापूर्वक रहनुमाई हेतु क्षत्रियत्व जब अपना कर्त्तव्य निर्वहन करता है तो वह सरंक्षण कहलाता है। “”

वैसे “” स “” से समर्पित
“” न् “” से नम्र निवेदन
“” र “” से रखवाली
“” क्ष “” से क्षमतानुरूप
“” ण “” से नीति रीति का पालना

“” समर्पित नम्र निवेदन जब रखवाली में क्षमतानुरूप नीति रीति का पालना करवाये तो वह सरंक्षण कहलाता है। ‘”

सामान्य परिप्रेक्ष्य में –

“” किसी के वजूद को तराशने में अपनत्व के साथ लालन पालन करना ही तो सरंक्षण कहलाता है। “”

“” किसी की पुकार में उसे कष्ट से विमुक्त करना सरंक्षण ही तो है। “”

“” किसी के कर्त्तव्य निर्वहन पर उसके अधिकार को प्रदान करवाना सरंक्षण में ही आता है। “”

“‘ सरंक्षण लेना बड़ा ही आसान है बस आपको अपना तहे दिल से समर्पण देना ही है,
पर सरंक्षण देने के लिए अपनी योग्यता को सरंक्षणकर्ता से कई गुना बढ़ानी पड़ती है। “”

These valuable are views on Definition of Preservation | Meaning of Safeguard | Sanrakshan Ki Paribhasha.
सरंक्षण की परिभाषा | सरंक्षण का अर्थ

मानस जिले सिंह
【यथार्थवादी विचारक 】
अनुयायी – मानस पंथ
उद्देश्य – मानवीय मूल्यों की स्थापना हेतु प्रकृति के नियमों का यथार्थ प्रस्तुतीकरण में संकल्
पबद्ध योगदान देना।

2 COMMENTS

Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Sanjay Nimiwal
Sanjay
1 year ago

सुन्दर व्याख्या👌👌👌

आज सबसे अधिक संरक्षण..
अपने रिश्ते-नातों को बचाने का है,,
क्योंकि ये ही विलुप्ति के कगार पर है।।

Mahesh Soni
Mahesh Soni
1 year ago

जो व्यक्ति अपने कर्तव्यों को पुर्ण नही करता,
उसे अपने अधिकारों की बात करने का हक कैसे?

पहले अपने कर्तव्यों को पुर्ण करे तत्पश्चात अपने अधिकारों की बात करे

सुविचारक
महेश सोनी

Latest