Tuesday, March 5, 2024

Definition of Think | सोचने की परिभाषा

More articles

सोचने की परिभाषा | सोचने का अर्थ
Definition of Think | Meaning of Think | Sochne Ki Paribhasha
“” सोचना “”
Principles of Personal Performance
Second Step “” Think “”
“” व्यक्तिगत प्रदर्शन सिद्धांत के पंचतत्व में द्वितीय पड़ाव “” सोचना “” है।
“” समयानुकूल चाल चलन सोच को ही परिलक्षित करता है। “”
“” सोच समकालीन चुनाव का बेहतरीन प्रदर्शन ही तो है। “”
“” यथार्थ में चरितार्थ होता प्रदर्शन सोच ही तो है। “”
वैसे सामान्य परिप्रेक्ष्य में –
“” स “” सारगर्भित जहां बातें सिर्फ जुमले  ना बन पायें तो,
वहाँ गूढ़ चिंतन व मनन होना अवश्यम्भावी होता है ;
“” च “” चयन जहां  होने पर अपने निर्णय पर अडिग रहना प्राणी सीख  जाये,
वहाँ सार्थकता व सामर्थ्यता दोनों अकल्पनीय परिणाम दर्शाती हैं ;
“” न “” निरन्तरता जहां कार्य में बनी रहती है ,
वहाँ हुनर तराशने की जरुरत नहीं वास्तविकता में ही परिलक्षित होता है ;
“” वैसे सारगर्भित चयन में निरन्तरता बने रहना ही तो सोचना कहलाता है। “”
“” स्वविवेक , स्वतंत्र व समर्पणभाव से युक्त विचारों के चुनाव की सतत व निर्बाध प्रक्रिया ही सोचना कहलाती है। “”
“” एक सोच अर्श से फ़र्श और गधे से घोड़े तक का सफर करवाती है। “”
These valuable are views on Definition of Think | Meaning of Think | Sochne Ki Paribhasha.
सोचने की परिभाषा | सोचने का अर्थ
मानस जिले सिंह
【 यथार्थवादी विचारक】
अनुयायी – मानस पँथ
उद्देश्य – समाज में शिक्षा, समानता व स्वावलंबन के प्रचार प्रसार में अपनी भूमिका निर्वहन करना।

3 COMMENTS

Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Devender
2 years ago

Shandar

ravi soni
Member
2 years ago

hello

Manas Shailja
Member
2 years ago

sunder chintan

Latest