Monday, October 2, 2023

Guru Nanak Dev | परमश्रद्धेय गुरुनानक देव

More articles

परमश्रद्धेय गुरुनानक देव | गुरुदेव का अर्थ
Respected Guru Nanak Dev | Meaning of Gurudev | Gurudev Ki Paribhasha

“” परमश्रद्धेय गुरुनानक देव “”

मानवीय मूल्यों पर समर्पण जब भी जहां होता है ,
उच्च आदर्शों का बोलबाला भी बस वहाँ होता है ;
जब सोच में “” नेकी कर कुंऐ में डाल “” का फलसफा जहां होता है,
कोई फकीर के रूप में संत का जन्म भी बस वहां होता है ;

जिसकी पीड़ा में जब सारा ही जहान होता है,
वहां ऊंच नीच तो छोड़ जात पात भी फिर बस कहां होता है;
जब देखी व झेली छुआछूत की असहनीय पीड़ा तो,
अब अकेले में भोजन नहीं अपितु लँगर का प्रसाद ही बस वहां होता है ;

जिसने जानी आडम्बर व पाखण्ड की होड़ में इन्शानियत की रूह तार तार होते,
निर्गुण, निराकार के सत्ता की लकीर पर चलना तो फिर आसान कहां होता है ;
जिसने की दुआ दूसरे की अमन व सुख शान्ति के लिए ,
तो फिर सँगत में बैठकर ही भजन कीर्तन की परम्परा का निर्वाह भी बस वहां होता है ;

जो जीते ही हैं सिर्फ मानवता को जिंदा रखने के वास्ते,
वहां अपने और पराये का फ़िर बोध किसे व कहां होता है ;
जिसने जानी व समझी रहमत बस उस परवरदिगार की,
तो फिर सिर्फ “” तेरा है – तेरा है “” कहकर पुकारने वाला सद्गुरु गुरुनानक देव जन्म वहां होता है “”

These valuable are views on Respected Guru Nanak Dev | Meaning of Gurudev | Gurudev Ki Paribhasha
परमश्रद्धेय गुरुनानक देव | गुरुदेव का अर्थ

मानस जिले सिंह
【यथार्थवादी विचारक 】
अनुयायी – मानस पंथ
उद्देश्य – मानवीय मूल्यों की स्थापना हेतु प्रकृति के नियमों का यथार्थ प्रस्तुतीकरण में संकल्पबद्ध योगदान देना।

1 COMMENT

Subscribe
Notify of
guest
1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Sanjay Nimiwal
Sanjay
3 months ago

नानक नाम जहाज है,
जो जपे सो उतरे पार,,
मेरा सद्गुरु करता मुझको प्यार,,,
वही तो है मेरा खेवणहार।।।

Latest