Monday, December 4, 2023

Meaning of Mistress | रखैल तो कभी वैश्या

More articles

रखैल तो कभी वैश्या | रखैल का अर्थ
Meaning of Mistress | Definition of Mistress | Mistress Ki Paribhasha

| Mistress sometimes Prostitute |
| रखैल तो कभी वैश्या |

हाथ आँसुओं को पोंछने से ज्यादा जब लिबास को छूने से जो रोकने में लगे ,
जमीर बचाने जब हैवान के पैरों में भी गिरने लगे ;

बेबसी भी खुले आसमां से दया की एक बूंद जब मांगने लगे ,
मसीहा का इंतजार करने में टकटकी भी जब आखिरी में जो पथराने लगे ;

तो आँसुओं का समंदर भरी बारिश में भी सूखने लगे ,
जिस्म से दरिंदगी की हद भी जब दो वक़्त की रोटी होने लगे ;

सूखे गले की प्यास ही जब हया ताक पर रखवाने लगे ,
रूह का तार तार होना भी जब जिंदा रहने की कीमत बताने लगे ;

तो रहबर से ज्यादा ज़ुल्मी पर ही रहम की आस अब करने लगे ,
दर्द की हर चीख पर बहरी दीवारें उसे विक्षिप्त जो बनाने में लगे ;

तो बदन भी ढ़कने के लिए एक चीर का सहारा लेने लगे ,
तो फिर खून भी जो टपकाने से कर्कश आँखें इंकार करने लगे ;

हवस की सनक भी झेल लबों पे मुस्कान का जो इक़रार करने लगे ,
शारीरिक उत्पीड़न भी हंसी में दिखा वहशी का ऐतबार जो जीतने लगे ;

हर दरिंदगी को जिस्म पर आज़माने का अख्तियार जब जो करने लगे ,
वो पल पल मर कर भी अपने जिंदा होने का वजूद दिखा दुनिया की नज़र में कभी “” रखैल “” तो कभी “” वैश्या ” जो अब कहलाने लगे ;

These valuable are views on Meaning of Mistress | Definition of Mistress | Mistress Ki Paribhasha
रखैल तो कभी वैश्या | रखैल का अर्थ

मानस जिले सिंह
【यथार्थवादी विचारक 】
अनुयायी – मानस पंथ
उद्देश्य – मानवीय मूल्यों की स्थापना हेतु प्रकृति के नियमों का यथार्थ प्रस्तुतीकरण में संकल्पबद्ध योगदान देना।

1 COMMENT

Subscribe
Notify of
guest
1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Devender
Devender
1 year ago

शानदार लेख

Latest