Tuesday, May 28, 2024

Meaning of Prayer | पूजा – सर्वेश्वर के प्रति समर्पण भाव

More articles

पूजा – सर्वेश्वर के प्रति समर्पण भाव | समर्पण भाव
Meaning of Prayer | Definition of Prayer | Pooja Ki Paribhasha

“‘ पूजा – सर्वेश्वर के प्रति समर्पण भाव ”

httpss://youtu.be/l5PS3Lxm09A

“” पूजा “”

“” सर्वोपरि मानते हुए समर्पण के साथ अभिलाषित भाव ही पूजा है। “”

वैसे मानस के अंदाज में –

“” प “” से पूज्य से प्रेम
“” उ “” से ऊर्जा
“” ज “” से जिज्ञासा

“” पूज्य से प्रेम की जिज्ञासा में ऊर्जा का समर्पण ही पूजा है | “”

“” प “” से पूजनीय से प्रार्थना
“” उ “” से उम्मीद
“” ज “” से जुड़ाव

“” पूजनीय से प्रार्थना में उम्मीद हो जुड़ाव की तो वह, पूजा कहलाती है | “”

“” प “” से पालनहार से पवित्रता
“” उ “” से उपाय
“” ज “” से जमीनी चाहत

“” पालनहार से पवित्रता के उपाय की जमीनी चाहत ही पूजा कहलाती है। “”

These valuable are views on Definition of Prayer | Meaning of Prayer | Pooja Ki Paribhasha
समर्पण भाव | पूजा – सर्वेश्वर के प्रति समर्पण भाव

मानस जिले सिंह
【 यथार्थवादी विचारक】
अनुयायी – मानस पँथ
उद्देश्य – समाज में शिक्षा, समानता व स्वावलंबन के प्रचार प्रसार में अपनी भूमिका निर्वहन करना।

11 COMMENTS

Subscribe
Notify of
guest
11 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Sarla Jangir
Sarla jangir
2 years ago

Excellent 👌

Amar Pal Singh Brar
Amar Pal Singh Brar
2 years ago

बहुत सुन्दर

Sanjay Nimiwal
Sanjay
2 years ago

पूजा – मन के भटकाव को स्थिर करने का तरीका

अति सुंदर विश्लेषण 🙏🙏

Mohan Lal
Mohan
2 years ago

बहुत अच्छी

ONKAR MAL Pareek
Member
2 years ago

अपने इष्ट के प्रति समर्पण भाव ही सही मायने में पूजा है ।

Jitu Nayak
Member
2 years ago

Nice Ji

Latest