Tuesday, March 5, 2024

Meaning of Unfinished Tales | आधी अधूरी अनसुनी दास्ताँ

More articles

व्यस्त की परिभाषा | व्यस्त का अर्थ
Meaning of Unfinished Tales | Definition of Unfinished Tales | Unfinished Tales Ki Paribhasha

| Unfinished Tales |
| आधी अधूरी अनसुनी दास्ताँ |

जिंदगी मुझसे न जाने क्या -2 कर्म करवायेगी ,
ख्वाहिशों को तो कबका बीच रास्ते ही छोड़ दिया था हमने ;

सपनों की उड़ान के पँख कटवा नश्तर दिल में चुभोये भी थे हमने ,
कैसा दौर अब आया जो दैनिक जरूरत के लिये भी हमसे संघर्ष करवायेगी ;

मुनासिब न था उसकी हरकतों को दिल पर लेना ,
यकीन न था आँखें फेर सूरत ऐ हाल पर दबी हंसी से अब मज़ाक बनायेगी ;

आखिरी उम्मीद थी कभी हमारे जीने की जो ,
वो भी गर्दिश में सितारों के दरमियाँ छोड़ अकेले ही उन्मुक्त हो जायेगी ;

रात दिन एक कर दी थी उसको पाने की चाह में ,
लगता है अब यूँही जिंदगी की गुजर बसर हो जायेगी ;

हिम्मत न थीं अलविदा कह सकूँ जो उसको ,
“” कामयाबी “” ही थीं जो जनूँ हमारी आज भी पर अब वो “” आधी अधूरी अनसुनी दास्ताँ “” कहलायेगी ;

These valuable are views on Meaning of Unfinished Tales | Definition of Unfinished Tales | Unfinished Tales Ki Paribhasha
व्यस्त की परिभाषा | व्यस्त का अर्थ

मानस जिले सिंह
【यथार्थवादी विचारक 】
अनुयायी – मानस पंथ
उद्देश्य – मानवीय मूल्यों की स्थापना हेतु प्रकृति के नियमों का यथार्थ प्रस्तुतीकरण में संकल्पबद्ध योगदान देना।

1 COMMENT

Subscribe
Notify of
guest
1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Amar Pal Singh Brar
Amar Pal Singh Brar
1 year ago

वाह

बहुत सुन्दर

Latest